Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
दुनिया

तालिबान कर रहा नरसंहार, 17 साल की बच्ची समेत हज़ारो मुस्लिम समुदाय के 13 लोगों की बेरहमी से हत्या

तालिबान हजारा मुसलमानों को मार रहा है
तालिबान हजारा न्यूज: अफगानिस्तान की सत्ता उनके हाथ में आते ही तालिबान ने एक बार फिर हजारा मुस्लिम समुदाय के लोगों को मारना शुरू कर दिया है। उसने इस समुदाय के करीब 13 लोगों की हत्या कर दी है।
तालिबान ने हजारा लोगों को मारा अफगानिस्तान में सत्ता में काबिज तालिबान अब देश में लोगों का कत्लेआम कर रहा है। उसने हजारा मुस्लिम समुदाय के 13 लोगों की बेरहमी से हत्या कर दी है। इनमें एक 17 साल की बच्ची भी है। यह घटना देश के मध्य प्रांत के दयाकुंडी की है। वैश्विक मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने अपनी रिपोर्ट (तालिबान हजारा पीपल मर्डर) में यह जानकारी दी है। 300 तालिबान लड़ाकों का एक काफिला 30 अगस्त को खिद्र जिले में गया और अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा बल (एएनएसएफ) के 11 पूर्व सदस्यों को मार गिराया।

Advertisement

इनमें से 9 को पास के एक नदी बेसिन में ले जाया गया, जहां आत्मसमर्पण करने के तुरंत बाद उन्हें मार दिया गया। तालिबान ने क्षेत्र से भागने की कोशिश कर रहे अफगान बलों को निशाना बनाया, दोनों ओर से गोलीबारी की। इसमें मासूमा (बदला हुआ नाम) नाम की लड़की की गोली मारकर हत्या कर दी गई (तालिबान हजारा नरसंहार)। करीब 20 साल के फैयाज की भी गोली लगने से मौत हो गई। मारे गए एएनएसएफ सदस्यों की उम्र 26 से 46 साल के बीच थी। मारे गए सभी लोग हजारा समुदाय के थे।

पिछली सरकार में भी दी थी प्रताड़ना
तालिबान ने अपने पहले शासन के दौरान वर्ष 1996 और 2001 में इस समुदाय के लोगों को बहुत प्रताड़ित किया था। एमनेस्टी ने मंगलवार को जारी अपनी रिपोर्ट में कहा कि तालिबान ने 15 अगस्त को अफगानिस्तान पर कब्जा करने से पहले जुलाई में गजनी प्रांत (तालिबान हजारा नरसंहार) में रहने वाले नौ लोगों को मार डाला था। हजारे अफगानिस्तान में रहने वाली शिया आबादी का एक बड़ा हिस्सा हैं। लेकिन वे लगातार आतंकी संगठनों के निशाने पर हैं।

हजारा हमेशा निशाने पर रहे हैं
तालिबान और उसके कट्टर दुश्मन ISIS-K पर हजारा समुदाय के शोषण का आरोप लगाया गया है। एमनेस्टी इंटरनेशनल के महासचिव एग्नेस कैलामार्ड ने कहा, “ये क्रूर हत्याएं इस बात का सबूत हैं कि तालिबान वही कुख्यात अपराध कर रहे हैं जो उन्होंने अफगानिस्तान में अपने पिछले शासन के दौरान किए थे।” दशक में अपने पांच साल के शासन के दौरान, तालिबान ने बल्ख और बामियान प्रांतों में रहने वाले सैकड़ों हज़ारों का नरसंहार किया।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

आईएमएफ को डर – युद्ध के कारण कर्ज में डूबेगा यूक्रेन; रूस ने एक ही दिन में किए 1100 हमले

Live Bharat Times

वाशिंगटन में संगीत कार्यक्रम में फायरिंग: किशोर की मौत, पुलिस अधिकारी समेत 3 घायल; घटना व्हाइट हाउस से 2 मील की दूरी पर हुई

Live Bharat Times

रूस-यूक्रेन युद्ध अपडेट: रूस ने मारुपोल पर कब्जा करने का दावा किया

Live Bharat Times

Leave a Comment