Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
धर्मं / ज्योतिष

आप भी घर में रखें गंगाजल, कभी न करें ये गलतियां, हो सकती हैं परेशानियों का सामना….

पवित्र नदी गंगा का हिंदू रीति-रिवाजों में बहुत महत्व है, कहा जाता है कि गंगा नदी में स्नान करने मात्र से आपके सारे पाप धुल जाते हैं। मां गंगा की कृपा से सभी दुर्भाग्य दूर हो जाते हैं।

Advertisement

गंगाजल
सनातन धर्म में गंगा नदी को देवी का रूप माना गया है। गंगाजल को सबसे पवित्र माना जाता है। इस युग में मां गंगा को पाप्तरिणी भी कहा जाता है। घर में किसी भी शुभ कार्य के लिए गंगाजल का प्रयोग जरूर किया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मां गंगा मोक्ष देती हैं। न जाने कितने लोग रोज गंगा में स्नान करते हैं। आज के कलियुग में भी लोगों के मन में गंगा मां के प्रति अटूट श्रद्धा है।

लोग अपने घरों में गंगाजल जरूर रखते हैं। घर में गंगाजल रखना शुभ माना जाता है। कहा जाता है कि अगर घर में गंगाजल रखा जाए तो आपके घर में सकारात्मकता बनी रहती है। ऐसे में आमतौर पर लोग अपने घर में पूरी श्रद्धा के साथ गंगाजल लगाते हैं, लेकिन अगर घर में रखते समय कुछ बातों का ध्यान नहीं रखा गया तो आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

किस प्रकार के बर्तन में गंगाजल नहीं रखना चाहिए
आमतौर पर देखा जाता है कि लोग गंगाजल को प्लास्टिक की बोतल या घर में किसी डिब्बे में भरकर रखते हैं। लेकिन आपको बता दें कि गलती से भी गंगाजल को प्लास्टिक की बोतल में नहीं रखना चाहिए, क्योंकि प्लास्टिक को शुद्ध नहीं माना जाता है। ऐसे में जहां तक ​​हो सके गंगाजल को तांबे, पीतल, मिट्टी या चांदी के बर्तन में रखना चाहिए।

यह काम करना न भूलें
अगर आप अपने घर में गंगाजल रखते हैं तो आपको हर हाल में साफ-सफाई का पूरा ध्यान रखना चाहिए। हमेशा ध्यान रखें कि जहां आप गंगाजल रखते हैं वहां तामसिक चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए, अगर आप ऐसा करते हैं तो गंगाजल को किचन आदि से दूर रखना चाहिए।

गंगाजल को ऐसे स्थान पर न रखें
आपको बता दें कि गंगाजल जीवन में पवित्रता प्रदान करता है इसलिए इसे कभी भी ऐसी जगह नहीं रखना चाहिए जहां अंधेरा हो। क्योंकि गंगाजल पवित्र है तो इसे रखते समय इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि जहां गंगाजल रखा जाता है वहां किसी प्रकार की गंदगी नहीं होनी चाहिए।

इसे इस तरह दोष दें
गंगाजल को छूने से पहले भी कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। छूने से पहले हाथों को अच्छी तरह से धो लेना चाहिए, गंगाजल को गंदे हाथों से छूना कभी नहीं भूलना चाहिए। यदि आप गंगाजल को गंदे हाथों से या अशुद्ध अवस्था में छूते हैं, तो यह एक दोष है।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

अगर आप भी अपने घर में सुख समृद्धि चाहते हैं तो वास्तु के इन नियमों पर एक नज़र जरुर डालें

Live Bharat Times

रख रहे हैं रवि प्रदोष व्रत तो जरूर पढ़े या सुने यह कथा

Live Bharat Times

कल खत्म होगा केदारनाथ के दर्शन का इंतजार, गौरीकुंड से धाम तक बढ़ा भक्तों का जत्था, महादेव की जय-जयकार

Leave a Comment