Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
धर्मं / ज्योतिष

दिवाली 2021: धनतेरस से लेकर दीपावली और भाई दूज तक, जानिए पांच दिवसीय दीपावली पर्व के शुभ मुहूर्त की पूरी जानकारी!

धनतेरस का दिन दीपोत्सव के पांच दिवसीय त्योहार की शुरुआत का प्रतीक है। इस बार पांच दिवसीय यह पर्व 2 नवंबर से शुरू होकर 6 नवंबर तक चलेगा. जानिए हर दिन के शुभ मुहूर्त की पूरी जानकारी.

Advertisement

दिवाली 2021
पांच दिवसीय दीपोत्सव 2 नवंबर से शुरू होने जा रहा है। धनतेरस 2 नवंबर मंगलवार को है। अगले दिन 3 नवंबर को रूप चतुर्दशी, 4 नवंबर को दीपावली, 5 नवंबर को गोवर्धन पूजा और 6 नवंबर को भैया दूज है. पंच दिवसीय इस पर्व में हर दिन का अपना महत्व है। धनतेरस के दिन खरीदारी करना शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन खरीदारी करने से परिवार में सुख-समृद्धि आती है। इस दिन शाम को दीपदान भी किया जाता है।

इसके बाद रूप चतुर्दशी जिसे नरक चतुर्दशी के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन अकाल मृत्यु से बचने के लिए दीपक का दान किया जाता है। इसके बाद दिवाली का त्योहार आता है, जिसे देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा का दिन माना जाता है। दिवाली के अगले दिन गोवर्धन पर्वत की पूजा की जाती है और भाई दूज के आखिरी दिन भाई को तिलक किया जाता है। भैया दूज के साथ इस पर्व का समापन होता है।

1. धनतेरस पर खरीदारी का शुभ मुहूर्त

यदि वाहन आदि खरीदने की योजना है तो धनतेरस के दिन सुबह 11:48 बजे से दोपहर 01:40 बजे तक का समय बहुत ही शुभ होता है। इसके अलावा 01:40 मिनट तक शुभ मुहूर्त है। इस दौरान आप लोहा या स्टील का सामान, वाहन आदि खरीद सकते हैं। शाम 06:12 से रात 10:21 तक आप घरेलू सामान, सोना, चांदी, पीतल आदि खरीद सकते हैं। यह समय बहुत शुभ है। लेकिन दोपहर 3 बजे से 04:31 बजे तक कोई भी खरीदारी न करें, इस दौरान राहुकाल रहेगा।

धनतेरस के दिन दीपदान और पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 5 बजे से 06:30 मिनट तक रहेगा. इसके अलावा शाम 06:30 से रात 08:11 तक का समय भी पूजा और दीप के लिए शुभ होता है।

2. रूप चतुर्दशी का शुभ मुहूर्त

रूप चतुर्दशी बुधवार, 3 नवंबर को पड़ रही है। इस दिन घर की दरिद्रता दूर करने और परिवार के सदस्यों को अकाल मृत्यु से बचाने के लिए पूजा की जाती है। इसके लिए घर के मुख्य द्वार पर चौमुखी दीपक जलाया जाता है। दीप प्रज्ज्वलित करने का शुभ मुहूर्त शाम छह बजे से रात आठ बजे तक रहेगा।

3. हैप्पी दिवाली
दिवाली का त्योहार तीसरे दिन मनाया जाता है। इस बार दिवाली 4 नवंबर गुरुवार को मनाई जाएगी। दिवाली के दिन शाम को देवी लक्ष्मी और गणपति की पूजा की जाती है। ऐसा माना जाता है कि दिवाली के दिन देवी लक्ष्मी का घर में प्रवेश होता है। उनके स्वागत के लिए घर को सजाएं और साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें, खासकर मुख्य द्वार पर। दीपावली के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त रात 08:10 मिनट से 10:15 मिनट तक रहेगा. स्टेशनरी बुक, शिक्षण संस्थान, जूता फैक्ट्री, कपड़ा व्यवसाय, पेट्रोल पंप, लोहा, सोना-चांदी का व्यवसाय करने वालों के लिए दुकान पर पूजा का शुभ मुहूर्त दोपहर 1 बजे से शाम 04:30 बजे तक रहेगा.

4. गोवर्धन पूजा का शुभ मुहूर्त

5 नवंबर शुक्रवार को गोवर्धन पूजा की जाएगी. इस दिन गोवर्धन पर्वत की पूजा कर प्रकृति की रक्षा का संदेश दिया जाता है. इस दिन पूजा का शुभ मुहूर्त दोपहर 03:02 बजे से रात 8 बजे तक रहेगा।

5. भाई दूज का शुभ मुहूर्त
दीपावली पर्व का समापन भाई दूज के साथ होता है। भाई दूज पर तिलक का शुभ मुहूर्त सुबह 10:30 बजे से 11:40 बजे तक, फिर दोपहर 01:24 बजे से शाम 04:26 बजे तक, शाम 06:02 बजे से 10:05 बजे तक रहेगा.

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

घर में धन-धान्य की वृद्धि के लिए लगाएं मनी प्लांट, इन बातों का रखें ख्याल

Live Bharat Times

ज्ञानव्यापी में सर्वे पूरा, नंदी के पास मिले बाबा, मुस्लिम पक्ष का दावा -मस्जिद में नहीं मिला कोई शिवलिंग

Live Bharat Times

इस तरह से करें भगवान श्रीकृष्ण की पूजा

Live Bharat Times

Leave a Comment