Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
खेल

हसन अली का कैच गिराकर जीता ऑस्ट्रेलिया? मैथ्यू वेड ने कहा- कैच पकड़ भी लेते तो भी जीत जाते

मैथ्यू वेड ने 19वें ओवर में लगातार तीन छक्के जड़े और ऑस्ट्रेलिया दूसरी बार टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा. उन्होंने पाकिस्तान को 5 विकेट से हराया।

मैथ्यू वेड ने पाकिस्तान के खिलाफ तूफानी पारी खेली थी.
टी20 वर्ल्ड कप 2021 के दूसरे सेमीफाइनल में हसन अली का मैथ्यू वेड का कैच छोड़ना टर्निंग पॉइंट बताया जा रहा है. इस मौके के बाद ऑस्ट्रेलिया ने शिकंजा कसते हुए पाकिस्तान से मैच छीन लिया. इसके बाद वेड ने लगातार तीन छक्के जड़े और ऑस्ट्रेलिया दूसरी बार टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा. लेकिन जान बचाने वाले मैथ्यू वेड का मानना ​​है कि कैच छूटना कोई मायने नहीं रखता. उन्होंने कहा कि अगर वह कैच पकड़ा भी जाता तो उनकी टीम मैच जीत जाती. सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने यह मैच पांच विकेट से जीत लिया। उन्हें 177 रन का लक्ष्य मिला। उन्होंने एक ओवर शेष रहते हासिल किया।

डेविड वॉर्नर ने 30 गेंदों में 49 रन और वेड के 17 गेंदों में 41 रन ने ऑस्ट्रेलिया की जीत में योगदान दिया। वेड ने 19वें ओवर में शाहीन अफरीदी को लगातार तीन छक्के लगाकर मैच का अंत किया। मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में मैथ्यू वेड ने कैच को लेकर कहा, ‘कहना मुश्किल है. मुझे लगता है कि 12 या 14 रन चाहिए थे। मुझे लगता है कि उस समय मैच हमारी ओर मुड़ने लगा था। मैं क्रीज पर पहुंच गया और मुझे नहीं पता था कि क्या होने वाला है। लेकिन मुझे यकीन था कि कमिंस मेरे पीछे आएंगे जब स्टोइनिस मैदान पर थे। ऐसे में हम आसानी से जीत जाते। मुझे नहीं लगता कि हमने कैच की वजह से मैच जीता।

बाबर ने फील्डिंग को कोसा
पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम ने कहा कि उनकी फील्डिंग हल्की थी और अहम मौकों पर कैच छोड़ना टीम को महंगा पड़ा। वेड को हसन अली ने जीवनदान दिया, जिसके बाद उन्होंने तीन छक्के लगाए। बाबर ने कहा, ‘सब कुछ हमारी रणनीति के मुताबिक चल रहा था। हमारा स्कोर भी अच्छा था लेकिन हमारी गेंदबाजी उतनी सटीक नहीं थी। अगर आप ऐसे मौकों पर कैच छोड़ते हैं, तो मैच आपके हाथ से निकल जाएगा। यह भी मैच का टर्निंग पॉइंट रहा।

वेड ने बताया आखिरी ओवरों का हाल
33 वर्षीय विकेटकीपर बल्लेबाज मैथ्यू वेड ने कहा कि आखिरी ओवरों में अनुभव काम आया। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में अनुभव हमेशा काम आता है। लेकिन ड्रेसिंग रूम में कोई हलचल नहीं थी। उन्होंने आखिरी ओवर में बल्लेबाजी के बारे में कहा, ‘दूसरे छोर पर स्टोइनिस ने दबाव हटा दिया। शाहीन मेरी अपेक्षा से अधिक तेज गेंदबाजी कर रहा था। मुझे खुशी है कि मैंने आखिरकार टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया। मैं कुछ समय के लिए टीम से बाहर था और मैं खुश हूं कि मुझे दोबारा मौका मिला।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

14वीं बार फ्रेंच ओपन के फाइनल में नडाल: सेमीफाइनल के दूसरे सेट के दौरान चोटिल हुए एलेक्जेंडर ज्वेरेव

Live Bharat Times

केएल राहुल ने तोड़ा गेल-वार्नर का रिकॉर्ड

Live Bharat Times

आईपीएल टीमों के मालिकों ने खरीदी साउथ अफ्रीका लीग की सभी 6 टीम

Live Bharat Times

Leave a Comment