Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
Other

सामान्य पेट्रोल और पावर पेट्रोल में क्या अंतर है? इस वजह से दोनों के रेट में अंतर है।

नियमित और पावर पेट्रोल अंतर

Advertisement
: आपने देखा होगा कि पेट्रोल पंप पर दो-तीन प्रकार के पेट्रोल मिलते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि दोनों में क्या अंतर है।


भारत में आमतौर पर तीन तरह के पेट्रोल उपलब्ध हैं।
जब भी आप पेट्रोल भरने के लिए पेट्रोल पंप पर जाते हैं तो आपने देखा होगा कि वहां कई तरह का पेट्रोल मिलता है। इन पेट्रोल की कीमतों में भी काफी अंतर है। अब सवाल यह है कि इन पेट्रोल में क्या अंतर है और ये वाहन को कैसे प्रभावित करते हैं। अक्सर लोगों के मन में सवाल होता है कि प्रीमियम पेट्रोल में ऐसा क्या अलग है कि इसके लिए ज्यादा पैसे वसूले जाते हैं। आज हम आपको बताते हैं कि आम पेट्रोल और सामान्य पेट्रोल में कितना अंतर होता है।

आपको बता दें कि भारत में आमतौर पर तीन तरह के पेट्रोल मिलते हैं। इसमें एक सामान्य पेट्रोल और दूसरा प्रीमियम पेट्रोल। इसके अलावा हाई ऑक्टेन पेट्रोल भी है। वैसे प्रीमियम पेट्रोल को पावर, स्पीड और एक्स्ट्रा माइल, हाई स्पीड जैसे नामों से जाना जाता है। ये नाम हर कंपनी के आधार पर अलग-अलग तय किए जाते हैं। ऐसे में जानिए इनमें क्या अंतर है और इसका वाहन पर क्या असर होता है।

नॉर्मल और पावर पेट्रोल में क्या अंतर है?
अगर नॉर्मल और पावर पेट्रोल की बात करें तो पावर पेट्रोल एक तरह से प्रीमियम पेट्रोल होता है और दूसरा नॉर्मल पेट्रोल। इन दोनों पेट्रोल में बड़ा अंतर यह है कि प्रीमियम या पावर पेट्रोल में ऑक्टेन की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। पेट्रोल पंप पर उपलब्ध विभिन्न प्रकार के पेट्रोल को ऑक्टेन की मात्रा के आधार पर विभाजित किया जाता है। अगर हम नियमित पेट्रोल की बात करें तो इसकी ऑक्टेन रेटिंग 87 तक होती है, जबकि मिड ग्रेड पेट्रोल में यह मात्रा 88 से 90 के बीच होती है। इसके अलावा सबसे अच्छे पेट्रोल की ऑक्टेन रेटिंग 91 से 94 तक होती है।

ओकटाइन का प्रभाव क्या है?
दरअसल, जिस पेट्रोल में ऑक्टेन ज्यादा होता है, वह इंजन में दस्तक देने और इंजन में धमाका करने को कम करता है। इंजन से आने वाली ध्वनि को नियंत्रित करने के लिए इंजन-दस्तक और विस्फोट यांत्रिक शब्द हैं। वैसे ऐसा नहीं है कि हाई ऑक्टेन पेट्रोल हर वाहन में फायदेमंद होता है। यह उन वाहनों के लिए सही है, जिनमें उच्च संपीड़न प्रणाली है। ऑक्टेन इंजन को पूरी क्षमता से काम करने में मदद करता है, जिससे वाहन मालिक को काफी लाभ मिलता है। इसके लिए आपको इसे लंबे समय तक लगातार इस्तेमाल करना होगा।

प्रीमियम ईंधन के क्या लाभ हैं
प्रीमियम फ्यूल के फायदों की बात करें तो यह फ्यूल इकॉनमी को बढ़ाता है। इससे इंजन अच्छा काम करता है और इंजन को ज्यादा ईंधन की जरूरत नहीं होती है। साथ ही इसका प्रभाव वाहन की गति और शक्ति पर भी पड़ता है। जब आप पावर पेट्रोल का उपयोग करते हैं, तो यह सीधे इंजन की दस्तक को कम करता है और ईंधन की शक्ति वाहन की शक्ति को प्रभावित करती है।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

आज लौटेंगे बुद्ध के धातु अवशेष 141 साल बाद देश में आए, भारत से 1880 में श्रीलंका भेजे गए थे

Live Bharat Times

स्टीम पोहा खाये और अपना दिन हेल्थी बनाये। रेसिपी जानिए।

Live Bharat Times

सोनाली फोगाट मौत मामले की जांच अब सीबीआई के हाथों में

Live Bharat Times

Leave a Comment