Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
भारतराज्य

सरयू परियोजना: सीएम योगी ने बलरामपुर को बताया अटल जी और नानाजी देशमुख की कार्य भूमि, कहा- यह प्रदेश में ‘सिंचाई क्रांति’ के नए अध्याय की शुरुआत

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बलरामपुर में राष्ट्र को समर्पित होने जा रही सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना उत्तर प्रदेश में समृद्धि के नए प्रवाह का माध्यम बनेगी.

सीएम योगी आदित्यनाथ 

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज यानि शनिवार को बलरामपुर के हंसुआडोल गांव में सरयू नहर परियोजना का उद्घाटन करेंगे. इस मौके पर राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि. यह लाखों किसानों के जीवन में ‘नई खुशियां’ लाने के साथ-साथ राज्य में ‘सिंचाई क्रांति’ का एक नया अध्याय तैयार करेगा।

प्रधानमंत्री मोदी शनिवार दोपहर 1 बजे कार्यक्रम स्थल पहुंचेंगे। पीएम मोदी पहले राज्यपाल और सीएम के साथ सरयू नहर परियोजना से जुड़े मॉडल का निरीक्षण करेंगे. यहां से प्रधानमंत्री बटन दबाकर देश की सबसे बड़ी सिंचाई परियोजना का शुभारंभ करेंगे। वहीं उद्घाटन से पहले सीएम योगी ने ट्वीट कर लिखा कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कमल आशीर्वाद के कारण आज एक हजार करोड़ की सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना का उद्घाटन पूज्य अटल के पूजा स्थल बलरामपुर में होने जा रहा है। यह लाखों किसानों के जीवन में ‘नई खुशियां’ लाने के साथ-साथ राज्य में ‘सिंचाई क्रांति’ का एक नया अध्याय तैयार करेगा।

 

बलरामपुर – ग्रामीण विकास के प्रणेता राष्ट्र ऋषि नानाजी देशमुख का कार्य स्थल
सीएम योगी ने नानाजी देशमुख का भी जिक्र किया. सीएम ने आगे लिखा कि ग्रामीण विकास के प्रणेता ऋषि नानाजी देशमुख, बलरामपुर में राष्ट्र को समर्पित होने जा रही ‘सरयू नहर राष्ट्रीय परियोजना’ उत्तर प्रदेश में समृद्धि के नए प्रवाह का माध्यम बनेगी।  30 लाख से अधिक किसानों की दशकों पुरानी साधना को पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री जी का धन्यवाद!

1978 में शुरू हुआ प्रोजेक्ट
वहीं पीएमओ के मुताबिक इस परियोजना पर 1978 में काम शुरू हुआ था लेकिन बजट आवंटन, संबंधित विभागों के बीच समन्वय और उचित निगरानी के अभाव में इसमें देरी हुई और करीब चार दशक तक यह धरातल पर नहीं उतर सका. पीएमओ ने कहा कि किसानों के कल्याण और सशक्तिकरण की प्रतिबद्धता के साथ-साथ राष्ट्रीय महत्व की लंबित परियोजनाओं को प्राथमिकता से पूरा करने के कारण प्रधानमंत्री ने इस परियोजना पर अपना ध्यान केंद्रित किया. इस परियोजना को पूरा करने के लिए मोदी ने इसे वर्ष 2016 में प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत लाया और इसे समय सीमा के भीतर पूरा करने का लक्ष्य रखा।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

भारत की चरमपंथी छवि को आकार देने के लिए बीबीसी डॉक्यूमेंट्री हैचेट जॉब: विदेश मंत्री एस जयशंकर

Admin

अयोध्या ज़मीन सौदा: सीएम के आदेश के बाद अयोध्या ज़मीन खरीद मामले की जांच तेज, जुटाया ब्योरा, राजस्व विभाग इस हफ्ते देगा रिपोर्ट

Live Bharat Times

बैंक एजीएम बनकर कारोबारियों को करोड़ों के लोन दिलाने के नाम पर ठगी

Admin

Leave a Comment