Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
भारत

अगले सीडीएस के चयन की प्रक्रिया शुरू, तीनों सेवाओं के समन्वय के लिए जनरल नरवणे ने संभाला सीओएससी प्रमुख का पद

जनरल रावत की मृत्यु के बाद जनरल नरवणे ने सीओएससी का पद संभाला है क्योंकि वह सेवारत प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ हैं। सूत्रों ने बताया कि जनरल नरवणे तीनों सेनाओं के प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ होने के कारण उन्हें समिति के अध्यक्ष का प्रभार दिया गया है.

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे 

Advertisement

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने गुरुवार को जानकारी दी कि अगले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की पहचान करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। हालांकि इस पर फैसला कब लिया जाएगा इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है। गौरतलब है कि देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत की 8 दिसंबर को तमिलनाडु के कुन्नूर में एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गई थी.

जनरल बिपिन रावत के निधन के बाद अगले सीडीएस के नाम पर चर्चा शुरू हो गई है। कहा जा रहा है कि देश के अगले सीडीएस को तीनों सेना प्रमुखों में से चुना जा सकता है। इस बीच, सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कुछ समय के लिए चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष के रूप में सीडीएस की कुछ जिम्मेदारियां संभाली हैं। चीफ ऑफ स्टाफ कमिटी (COSC) में थल सेना, नौसेना और वायु सेना के प्रमुख होते हैं। यह समिति सैन्य मुद्दों को तय करने वाली मुख्य संस्था है।

जनरल नरवणे तीनों सेनाओं के प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ हैं।

सीडीएस का पद 1 जनवरी 2020 को जनरल रावत के पदभार संभालने के साथ बनाया गया था। सीडीएस को समिति के स्थायी प्रमुख के रूप में नियुक्त किया गया था। जनरल रावत की मृत्यु के बाद जनरल नरवणे ने सीओएससी का पद संभाला है क्योंकि वह सेवारत प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ हैं। सूत्रों ने बताया कि जनरल नरवणे तीनों सेनाओं के प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ होने के कारण उन्हें समिति के अध्यक्ष का प्रभार दिया गया है.

COSC तीन सेवाओं के बीच समन्वय स्थापित करने का काम करता है

सीडीएस के पद के गठन से पहले, आमतौर पर तीनों सेवाओं के प्रमुखों में से सबसे वरिष्ठ को ‘चीफ ऑफ स्टाफ कमिटी’ के अध्यक्ष का प्रभार दिया जाता था। हालांकि इसके अध्यक्ष के पास कोई विशेष शक्ति नहीं होती है, वह सिर्फ तीनों सेनाओं के बीच समन्वय स्थापित करता है। गौरतलब है कि जनरल रावत के निधन के बाद जनरल नरवणे सबसे वरिष्ठ हैं। सीडीएस की दौड़ में जनरल नरवणे का नाम भी आगे है। हालांकि सरकार ने अभी तक इस बारे में कोई ज़िक्र नहीं किया है। अगले सीडीएस के चयन की प्रक्रिया शुरू, तीनों सेवाओं के समन्वय के लिए जनरल नरवणे ने संभाला सीओएससी प्रमुख का पद
जनरल रावत की मृत्यु के बाद जनरल नरवणे ने सीओएससी का पद संभाला है क्योंकि वह सेवारत प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ हैं। सूत्रों ने बताया कि जनरल नरवणे तीनों सेनाओं के प्रमुखों में सबसे वरिष्ठ होने के कारण उन्हें समिति के अध्यक्ष का प्रभार दिया गया है.

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

चंदनकियारी के तीरंदाज लाल गोल्डी ने गोल्ड मेडल लाकर किया झारखंड का नाम रौशन

Live Bharat Times

कर्नाटक के तट पर पकड़ी गई गंभीर रूप से लुप्तप्राय आरी मछली

Live Bharat Times

जम्मू-कश्मीर: स्कीइंग से बढ़ेगा पर्यटन, गुलमर्ग पसंदीदा डेस्टिनेशन बनकर उभरा, दूर-दूर से आते हैं पर्यटक

Live Bharat Times

Leave a Comment