Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
Breaking News
खेल

हरभजन सिंह ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास, 23 साल के करियर को कहा अलविदा

भारत के महान स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह ने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच साल 1998 में खेला था।

हरभजन सिंह भारत के महान स्पिन गेंदबाजों में से एक हैं।
भारत के दिग्गज स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह ने शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की। हरभजन सिंह ने साल 1998 में डेब्यू किया था और अब 23 साल बाद उन्होंने क्रिकेट को हमेशा के लिए अलविदा कहने का फैसला कर लिया है। हरभजन सिंह ने महज 17 साल की उम्र में अपने क्रिकेट की शुरुआत की थी और आज वह 41 साल के हो गए हैं। हरभजन सिंह ने साल 1998 में चेन्नई में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट मैच से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। इसके बाद उन्होंने उसी साल न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया।

उन्होंने 2006 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 डेब्यू किया था। तब से लेकर साल 2015 तक उन्होंने 103 टेस्ट मैचों में 417 विकेट लिए जबकि दो शतकों के साथ 2235 रन भी बनाए। वहीं, 236 मैचों में उन्होंने 269 विकेट लिए और 1237 रन बनाए। टी20 की बात करें तो यहां उनके नाम 28 मैचों में 25 विकेट हैं।  हरभजन सिंह अनिल कुंबले और आर अश्विन के बाद भारत के लिए तीसरे सबसे ज़्यादाटेस्ट विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। हरभजन सिंह आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स, मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए भी खेल चुके हैं जिसमें उन्होंने कुल 150 विकेट लिए हैं।

हरभजन सिंह का करियर शानदार रहा है
हरभजन सिंह ने कहा कि वह कुछ समय के लिए यह घोषणा करना चाहते थे लेकिन नहीं कर सके। उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर एक खास वीडियो शेयर करते हुए कहा, ‘मैं आज क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रहा हूं। मैंने अपनी सेवानिवृत्ति बहुत पहले ले ली थी, लेकिन अब मैं इसे आपके साथ साझा कर रहा हूं। वैसे भी, मैं लंबे समय से सक्रिय क्रिकेट नहीं खेल रहा था। मैं इसे बहुत पहले करना चाहता था लेकिन कोलकाता नाइट राइडर्स के साथ अपनी प्रतिबद्धता के कारण, मैं इस साल उनके साथ रहना चाहता था। बाकी सब की तरह मैं भी भारत की जर्सी में टीम को अलविदा कहना चाहता था लेकिन किस्मत के दिमाग में शायद कुछ और ही था। मैंने जिस भी टीम के लिए खेला है, मैंने हमेशा शीर्ष पर रहने की कोशिश की है।

हरभजन सिंह ने अपनी सफलता के लिए अपने गुरु को धन्यवाद दिया। उन्होंने अपने माता-पिता के अलावा अपनी बहनों को अपनी सबसे बड़ी ताकत बताया। उन्होंने अपनी पत्नी गीता बसरा से भी वादा किया कि वह अब अपने दो बच्चों के साथ ज़्यादा से ज़्यादा समय बिताएंगे। भारत के इस दिग्गज स्टार ने अपने करियर से सभी साथी और विरोधी खिलाड़ियों को धन्यवाद दिया, साथ ही अंपायर ग्राउंड मैन को भी धन्यवाद दिया।

राजनीति में जाने की बात हो रही है
हाल ही में पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने हरभजन सिंह से मुलाकात की। तभी से चर्चा है कि हरभजन सिंह जल्द ही राजनीति में आ सकते हैं। हालांकि, तब इस दिग्गज खिलाड़ी ने इसे महज अफवाह करार देते हुए कहा था कि वह नवजोत सिंह सिद्धू से बतौर क्रिकेटर मिले थे। वहीं कुछ समय पहले ये भी खबर आई थी कि पंजाब का यह स्टार रिटायरमेंट के बाद किसी आईपीएल टीम के सपोर्ट स्टाफ के तौर पर जुड़ सकता है. हालांकि इसकी भी पुष्टि नहीं हुई है।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

अब FIH द्वारा बनाये गए नए पेनल्टी कार्नर रूल्स होंगे फॉलो

Live Bharat Times

दुबई में एशिया कप: श्रीलंका के राजनीतिक संकट के बीच क्रिकेट बोर्ड की बैठक, आज एशिया कप के आयोजन स्थल पर हो सकता है फैसला

Live Bharat Times

भारत ने वन डे सीरीज जीती जरूर,लेकिन कई समस्याए अभी भी हैं बरकरार

Live Bharat Times

Leave a Comment