Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
धर्मं / ज्योतिष

सुबह उठकर इन चीजों को पहली नज़र में न देखें, पूरा दिन हो सकता है खराब

सुबह हम जो कुछ भी देखते हैं उसकी ऊर्जा को आकर्षित करते हैं। इस ऊर्जा का प्रभाव पूरे दिन रहता है। इसीलिए कहा जाता है कि सुबह के समय कुछ नकारात्मक चीजों को नहीं देखना चाहिए।

इन चीजों को देख के  सुबह न उठें
शास्त्रों में प्रातः काल का समय अत्यंत मूल्यवान बताया गया है। इस समय में हम जिस तरह की एनर्जी स्टोर करते हैं, वह दिन भर हमारे साथ रहती है। जो लोग सुबह उठकर पूजा, पाठ, व्यायाम, स्नान या कोई अन्य आवश्यक कार्य करते हैं, उनका शरीर दिन भर ऊर्जा से भरा रहता है और वे बहुत चुस्त महसूस करते हैं। उसी समय हमारे काम बनते हैं। लेकिन अगर हम सुबह गलत काम करते हैं, गलत चीजों को देखें, तो इसका हमारे दिमाग पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

ऐसे में किसी भी काम में हमारा मन नहीं लगता, कभी व्यर्थ के झगड़ों में समय बर्बाद होता है तो कभी पूरा दिन खराब हो जाता है. इसलिए हमारे शास्त्रों में सुबह उठते ही भगवान का नाम लेने की बात कही गई है, ताकि दिन की शुरुआत सकारात्मकता के साथ हो। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सुबह उठकर कभी भी कुछ नहीं करना चाहिए। यह नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करता है और आपका पूरा दिन बर्बाद कर सकता है।

आईने में मत देखो
कुछ लोग सुबह सबसे पहले अपना चेहरा देखना पसंद करते हैं, लेकिन ज्योतिष के अनुसार ऐसा नहीं करना चाहिए। इससे नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और इसका प्रभाव व्यक्ति के विचारों में देखने को मिलता है। इस वजह से कई बार बात बिगड़ भी जाती है।

गंदे बर्तन
वास्तु के अनुसार रात के समय बर्तन कभी भी सिंक में नहीं रखना चाहिए। लेकिन अगर आपके किचन में गंदे बर्तन हैं तो भी सुबह उठते ही उन बर्तनों को न देखें। यह आपके दिन को तनावपूर्ण बना देता है।

बंद घड़ी
घड़ी का चलते रहना शुभ होता है। सुबह कभी भी घड़ी की तरफ न देखें। सुई और धागा नहीं देखना चाहिए। इससे किसी से लड़ाई हो सकती है या फिर किसी कारण से आपका दिन खराब हो सकता है।

जानवरों की तस्वीर
कुछ लोग जानवरों की तस्वीरें घर में लगाते हैं, सुबह उठते ही उन्हें नहीं देखना चाहिए। यह आपका दिन विवाद और भ्रम में छोड़ देता है। बेहतर होगा कि आप अपने कमरे में किसी जानवर की तस्वीर न लगाएं।

क्या करें
आपको सुबह अपनी हथेलियों को देखना चाहिए क्योंकि इसमें आपका भाग्य छिपा होता है। अपने हाथ की हथेली में देखते हुए, आपको ‘कराग्रे वसते लक्ष्मी: कर्मधेय सरस्वती, करमुले तू गोविंदः प्रभाते करदर्शनम’ कहना चाहिए और अपने मन में भगवान को याद करना चाहिए और प्रणाम करना चाहिए।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

जानिए इसे किसे पहनना चाहिए और इससे क्या लाभ होते हैं

Live Bharat Times

इस मंदिर में तीनों पहर बदलता है माता का स्वरुप, दूर-दूर से चमत्कार देखने आते हैं भक्त

Live Bharat Times

जानिए भोलेनाथ की तीसरी आंख का क्या है रहस्य और खुलने पर क्यों आयीं तबाही

Live Bharat Times

Leave a Comment