Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
Other

यूपी: पीएम मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर के सुरक्षाकर्मियों, सैनिकों और पुजारियों को भेजा खास तोहफा, कोरोना के कारण गर्भगृह में प्रवेश पर लगी रोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी दर्शन के दौरान कर्मचारियों की परेशानी देखी थी. इसके बाद सभी सुरक्षाकर्मियों, सैनिकों और पुजारियों के लिए ज्यूट से बने जूते पीएमओ कार्यालय की ओर से भेजे गए हैं.

पीएम मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर के सुरक्षाकर्मियों, सैनिकों और पुजारियों को 100 जोड़ी के जूते भेजे हैं.

Advertisement

वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर में सुरक्षाकर्मियों, सैनिकों और पुजारियों को ठंड से बचाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें ज्यूट के जूते तोहफे में भेजे हैं. उधर, कोरोना के मद्देनजर मंदिर परिसर में आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा को देखते हुए मंदिर प्रशासन ने गर्भगृह में प्रवेश पर रोक लगा दी है. साथ ही नए नियम लागू किए गए हैं।

वर्तमान में काशी विश्वनाथ मंदिर में चमड़े और रबर से बने जूते-चप्पल पहनकर मंदिर परिसर में प्रवेश वर्जित है। कड़ाके की ठंड में सुरक्षाकर्मियों के लिए 8 घंटे की ड्यूटी करना काफी मुश्किल हो रहा था और वह भी बिना जूते-चप्पल के। इसे देखते हुए पूर्व में सुरक्षा कर्मियों को लकड़ी का स्टैंड दिया गया था, लेकिन लकड़ी का स्टैंड लगाने के बाद भी कर्मचारी अपनी ड्यूटी नहीं कर पा रहे हैं, उन्हें परेशानी हो रही है.

काशी विश्वनाथ
कोरोना के चलते गर्भगृह में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

 

काशी विश्वनाथ मंदिर के गर्भगृह में कोरोना से श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी दर्शन के दौरान कर्मचारियों की परेशानी देखी थी. इसके बाद सभी सुरक्षाकर्मियों, सैनिकों और पुजारियों के लिए ज्यूट से बने जूते पीएमओ कार्यालय की ओर से भेजे गए हैं. इस संबंध में संभागायुक्त दीपक अग्रवाल ने बताया कि आज सभी कर्मचारियों, सैनिकों और सुरक्षाकर्मियों के बीच करीब 100 जोड़ी जूते बांटे जा चुके हैं. इसे पीएमओ कार्यालय ने भेजा है। उन्होंने बताया कि पीएम मोदी ने मंदिर परिसर में ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों की समस्याओं का संज्ञान लिया था, जिसके बाद ज्यूट से बने जूतों को मंदिर प्रशासन को भेज दिया गया है. जिसे सभी लोगों के बीच बांटा जा रहा है. वहीं, कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर के गर्भगृह में श्रद्धालुओं के प्रवेश पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है.

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

दिवाली 2021: दीये और तोरण लगाते समय रखें इन जरूरी बातों का ध्यान, जीवन में रहेगी मां लक्ष्मी की कृपा

Live Bharat Times

स्कॉटलैंड में पीएम मोदी ने बजाया ढोल, भारतीय समुदाय के लोगों ने किया ऐसे स्वागत, देखें वीडियो

Live Bharat Times

ये लक्षण बताएंगे कि क्या आपको है किडनी स्टोन? दर्द में राहत देंगे ये घरेलू नुस्खे

Live Bharat Times

Leave a Comment