Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
धर्मं / ज्योतिष

मकर राशि में रहने वाला त्रिग्रही योग, इन 3 राशि के लोगो को होगा लाभ

 

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मनुष्य के जीवन में ग्रहों और राशियों की बहुत बड़ी भूमिका है। ज्योतिष शास्त्र की मानें जब किसी भी ग्रह का राशि परिवर्तन होता है , या कोई ग्रह अस्त या उदय होते हैं, या ग्रहों का योग या युति होती है तो इसका सीधा प्रभाव मानव जीवन पर पड़ता है। कुछ लोगों के लिए ग्रहों की यह युति या योग शुभ होता है तो कुछ के लिए अशुभ।

 

इस समय मकर राश में सूर्य, बुध और शनि का योग बना हुआ है और यह योग 13 फरवरी 2022 तक रहेगा। इस त्रिग्रही योग का प्रभाव वैसे तो सभी राशियों के जातकों पर पड़ेगा। कुछ राशियों के लिए शुभ होगा और कुछ को अच्छा परिणाम नहीं देगा। आइए जानते हैं ऐसी कौन सी तीन राशियां हैं, जिनको इस त्रिग्रही योग से विशेष लाभ हो सकता है।

कन्या राशि
त्रिग्रही योग बनने से कन्या राशि के जातकों को भाग्य का साथ प्राप्त होगा। कन्या राशि के जातक जिस कार्य में हाथ डालेंगे उसी कार्य में इन्हें सफलता प्राप्त होगी। कन्या राशि के स्वामी गढ़ बुध हैं और सूर्य और बुध मित्र ग्रह हैं। इसलिए इनके जीवन में कई सकारात्मक बदलाव लाएगा। इस अवधि में कन्या राशि के जातकों के सारे काम बनेंगे, जो जातक विदेश में नौकरी करना चाहते हैं, उनका सपना पूरा हो सकता है। नौकरी में पदोन्नति होने की भी प्रबल संभावना है।

तुला राशि
ज्योतिष के अनुसार तुला राशि के जातकों को त्रिग्रही योग का निर्माण फलदायी साबित होने की संभावना है। तुला राशि के स्वामीग्रह शुक्र देव हैं। और शुक्र और शनि में मैत्री भाव होने के कारण इन राशि के लोगों को कार्यक्षेत्र में नए अवसर प्राप्त होंगे। नौकरी में बदलाव से सैलरी में अच्छी ग्रोथ होने की उम्मीद है। व्यापार में भी धन लाभ हो सकता है। अटके हुए काम बनने के आसार हैं। नौकरी में पदोन्नति की संभावना है।

वृषभ राशि
वृषभ राशि के जातकों के लिए सूर्य, बुध और शनि का त्रिग्रही योग आर्थिक रूप से सकारात्मक रहेगा। वृषभ राशि के जातकों को अचानक से लाभ की प्राप्ति होने की संभावना है। वृषभ राशि के स्वामी ग्रह शूकरदेव हैं और ज्योतिषशास्त्र के अनुसार शुक्र और शनि मैत्री ग्रह हैं। इसलिए वृषभ राशि के जातकों पर शनि देव की विशेष कृपा रहनी वाली है। कार्यस्थल पर कोई बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है। आमदनी में बढ़ोतरी की संभावना दिखाई दे रही है।आर्थिक स्थिति पहले से काफी मजबूत रहेगी। साझेदारी के काम में धन लाभ होने के विशेष योग बन रहे हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

आषाढ़ मास का पहला व्रत: संकष्टी चतुर्थी 17, इस दिन गणेश जी के कृष्ण पिंगाक्ष रूप की पूजा करने से कष्ट दूर होते हैं।

Live Bharat Times

वक्री शनि 12 जुलाई को मकर राशि में प्रवेश करेगा:शनिदेव की अपने पिता से दुश्मनी है, रावण द्वारा दिए गए दर्द को दूर करने के लिए उनका अभिषेक होता है

Live Bharat Times

नवरात्रे के पांचवे दिन होती है, मां स्कंदमाता की पूजा जाने इस दिन की विशेषता।

Live Bharat Times

Leave a Comment