Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
धर्मं / ज्योतिषब्रेकिंग न्यूज़

शनि-शुक्र: शुक्र-शुक्र 30 साल बाद एक ही घर में, इस राशि का जीवन समृद्ध होगा।

शनि और शुक्र की युति:

Advertisement
किसी भी ग्रह की स्थिति में परिवर्तन का प्रभाव राशियों पर पड़ेगा। इसके अलावा, कभी-कभी 2 ग्रह कुछ राशियों को लाभ पहुंचाने के लिए कई वर्षों के बाद एक ही घर में जुड़ते हैं।

वैदिक ज्योतिष के अनुसार सभी ग्रह समय-समय पर बदलते रहते हैं। कभी-कभी कला ग्रह एक साथ आते हैं। एक ग्रह दूसरे ग्रह के साथ एक ही राशि में गोचर करता है। शनि इस समय मकर राशि में गोचर कर रहा है और धनदाता शुक्र भी मकर राशि में आ गया है।
इस वजह से 30 साल बाद इन दोनों ग्रहों की युति मकर राशि में हो रही है। क्योंकि शनि ने 30 साल बाद ही राशि में प्रवेश किया है। वहीं ग्रहों की युति का प्रभाव सभी राशियों के लोगों पर देखने को मिलता है। लेकिन इस युति से केवल 3 राशियों को ही लाभ होता है।

शनि और शुक्र की युति कटक के जातकों को लाभ देगी। यह युति आपकी कुंडली के सप्तम भाव में बनेगी। इसे वैवाहिक जीवन और साझेदारी का भाव कहा जाता है। इसलिए पार्टनरशिप बिजनेस शुरू करने का यह सबसे अच्छा समय है।

साथ ही जो लोग लंबे समय से संतान के लिए प्रयास कर रहे हैं उन्हें इस समय संतान प्राप्ति की संभावना है। साथ ही निजी जीवन में भी कोई परेशानी नहीं होगी। यह समय पेशेवर जीवन में उन्नति के कई अवसर प्राप्त करने का है।

यह गलत नहीं है कि शनि शुक्र की युति से भरपूर लाभ होगा। इस दौरान आपके आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। निवेश के मामले में भी मुनाफा बढ़ेगा। अपने शब्दों का प्रयोग अच्छे से करें, नहीं तो रिश्ते बिगड़ सकते हैं। इस दौरान आपकी सेहत में भी सुधार आएगा।

  शनि और शुक्र की युति के कारण कहा जा सकता है कि धनु
राशि का राजयोग रहेगा। यह युति कुंडली के धन भाव में हो रही है जिससे आपको आर्थिक लाभ होगा। आपके मान सम्मान में वृद्धि होगी।
Print Friendly, PDF & Email

Related posts

दिल्ली मर्डर केस अपडेट्स कोर्ट ने फैसला सुनाया कि फॉरेंसिक लैब 5 दिनों के भीतर आरोपी आफताब का ड्रग टेस्ट करेगी।

Admin

Latest Haryanvi Song 2022: हितेश परिहार का नया गाना Mulkan Aali हुआ रिलीज

Admin

गुजरात चुनाव: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और आन्नदीबेन पटेल ने किया मतदान

Admin