Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
कैरियर / जॉबब्रेकिंग न्यूज़

डेटा साइंस पाठ्यक्रम: डेटा साइंस का अध्ययन करने वालों की भारी मांग है; सेकेंड पीयू के बाद करें ये कोर्स

माध्यमिक पीयूसी के बाद डेटा साइंस का अध्ययन करने के लिए कौन से पाठ्यक्रमों में प्रवेश मिल सकता है? इसमें करियर की क्या संभावनाएं हैं, इसकी जानकारी यहां दी गई है।

Advertisement
बहुत से लोगों ने डेटा साइंस के बारे में सुना है। ऐसा कहा जाता है कि अगर आप डेटा साइंस जानते हैं तो नौकरी के दसियों अवसर उपलब्ध हैं। पीयूसी के बाद के उम्मीदवारों के लिए डाटा साइंस पाठ्यक्रम की भी सिफारिश की जाती है।
जैसे-जैसे दुनिया में डेटा का महत्व बढ़ रहा है, डेटा साइंटिस्ट, डेटा एनालिटिक्स जैसे जॉब के अवसर भी उसी गति से बढ़ रहे हैं। अनुमान है कि अगले 10-15 वर्षों में इन संबंधित पाठ्यक्रमों का दायरा और भी बढ़ जाएगा। तो यहां डेटा साइंस से संबंधित कुछ पाठ्यक्रमों का विवरण दिया गया है।
माध्यमिक पीयूसी के बाद डाटा साइंस का अध्ययन करने के लिए किन पाठ्यक्रमों में प्रवेश लिया जा सकता है? इसमें करियर की क्या संभावनाएं हैं, इसकी जानकारी यहां दी गई है।

पीयूसी के बाद कौन से डेटा साइंस कोर्स शामिल हो सकते हैं?

 

बीटेक- डाटा साइंस
बीटेक- डाटा साइंस, यह कोर्स चार साल की अवधि का है। यह छात्रों को डेटा का उपयोग करने के लिए डेटा टूल और तकनीक सिखाता है। पाठ्यक्रम डेटा का उपयोग करने के आसान तरीके सिखाता है। इसके अलावा, यह यह भी बताता है कि डेटा का उपयोग कैसे किया जा सकता है और इंजीनियरिंग भौतिकी से विभिन्न सिद्धांत सिखाता है।
बीटेक के लिए पीसीएम के साथ 12वीं में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक जरूरी हैं। अगर आप IIT जैसे संस्थान में प्रवेश लेना चाहते हैं तो 75% अंक होना जरूरी है।
बीएससी-डेटा साइंस
यह डिग्री कोर्स तीन साल की अवधि का है और इसमें कंप्यूटर साइंस, बिजनेस एनालिटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे कई विषय हैं। डेटा साइंस में स्टैटिस्टिक्स, बिग डेटा एनालिसिस और मशीन लर्निंग जैसे कई कॉन्सेप्ट पढ़ाए जाते हैं। इसके उपयोग से आम लोगों की संबंधित समस्याओं का समाधान होता है।
डेटा साइंस में बीएससी करने के लिए आपको 12वीं 50 फीसदी अंकों के साथ पास होना जरूरी है। यहां भी सिर्फ साइंस मेजर को ही प्रवेश दिया जाता है। कुछ कॉलेज अन्य स्ट्रीम के छात्रों को भी प्रवेश देते हैं। बिजनेस, हेल्थकेयर, बैंकिंग जैसे फील्ड में डेटा साइंटिस्ट, प्रोसेस एनालिस्ट, बिजनेस एनालिस्ट जॉब्स उपलब्ध हैं।
बीसीए
बीसीएओ तीन साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है। इसमें कंप्यूटर और मैथमैटिकल साइंस से जुड़े कोर्स पढ़ाए जाते हैं। यह कोर्स आज के तेजी से बदलते आईटी उद्योग को ध्यान में रखकर तैयार किया गया है। यह डेटा साइंस कॉन्सेप्ट्स और उनके एप्लिकेशन को समझने पर जोर देता है। प्रवेश के लिए छात्र को न्यूनतम 50% अंकों के साथ 12वीं पास होना चाहिए।
यहां करियर के कई अवसर भी उपलब्ध हैं। अमेज़ॅन, विप्रो और एचसीएल जैसे बड़े कॉर्पोरेट संगठनों में डेटा आर्किटेक्ट, डेटा इंजीनियर और डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर के रूप में काम करने के अवसर हैं।
डिप्लोमा इन डाटा साइंस डिप्लोमा इन डाटा साइंस दो साल का कोर्स है। यह छात्रों को डेटा साइंस और डेटा एनालिटिक्स में प्रशिक्षित करता है। डिप्लोमा कोर्स की लागत डिग्री कोर्स से कम होती है। यहां कम समय में अधिक कौशल सीखने के अवसर हैं। छात्र इंटर या यूजी के बाद भी डिप्लोमा कर सकते हैं। डिप्लोमा कोर्स पूरा करने के बाद रिसर्च एनालिटिक्स, बिजनेस इंटेलिजेंस एनालिस्ट, एनालिटिक्स मैनेजर आदि पदों पर काम करने के अवसर मिलते हैं।
सर्टिफिकेट कोर्स
तकनीकी प्रगति के युग में, बहुत सारे ऑनलाइन पाठ्यक्रम हैं। दुनिया की कई बड़ी कंपनियां ऐसे कोर्स के साथ हैं। इसी लिस्ट में डेटा साइंस में सर्टिफिकेट कोर्स भी शामिल हैं। कौरसेरा, उडेमी जैसे ऑनलाइन कोर्स प्रोवाइडर इस तरह के कोर्स मुहैया कराते हैं। इस कोर्स को करने के लिए कंप्यूटर साइंस और प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का ज्ञान होना जरूरी नहीं है। पाठ्यक्रम डेटा विज़ुअलाइज़ेशन, डेटा एनालिटिक्स और मशीन लर्निंग जैसी अवधारणाएँ सिखाता है। पाठ्यक्रम छात्रों को नौकरी के लिए तैयार कौशल सिखाता है। फिर छात्र इसके माध्यम से अपना करियर बना सकते हैं।
Print Friendly, PDF & Email

Related posts

‘सैम बहादुर’ का शूटिंग हुई शुरू; विक्की कौशल की हुडी पहने फोटो वायरल

Live Bharat Times

मैं गांधीवादी नहीं हूं, नेताजी सुभाष चंद्रवादी हूं: कंगना रनौत

Live Bharat Times

चलती ट्रैन में खिड़की तोड़ कर यात्री के गर्दन में घुसी रॉड, ट्रेन रुकने से पहले मौत

Admin