Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
ब्रेकिंग न्यूज़ राज्य

दिल्ली: असामान्य धूल भरी आंधी के एक दिन बाद भी राजधानी की वायु गुणवत्ता ‘बेहद खराब’

दिल्ली में तेज हवाओं के कारण शहर पर धुंध की मोटी चादर छाने के एक दिन बाद, राष्ट्रीय राजधानी बुधवार को भी प्रदूषण के खतरनाक स्तर के प्रभाव से जूझ रही है।

Advertisement

सुबह-सुबह मैप किए गए वायु गुणवत्ता सूचकांक में रोहिणी, पूसा, पटपड़गंज, वजीरपुर, आनंद विहार सहित अन्य सहित दिल्ली में 300 से अधिक प्रदूषण स्तर ‘बहुत खराब’ से ‘गंभीर’ श्रेणी के प्रदूषण स्तर का सामना करना पड़ा।

जहांगीरपुरी में आज सुबह प्रदूषण का स्तर 469 जबकि अशोक विहार में 352 दर्ज किया गया। वायु गुणवत्ता सूचकांक वजीरपुर में 418, रोहिणी में 472, मुंडका में 519, बवाना में 582, नरेला में 448, आनंद विहार में 360 और पूसा में 437, सोनिया विहार में 385, अलीपुर में 362, शाहदरा में 382 दर्ज किया गया।

नजफगढ़, आर.के. सहित अन्य क्षेत्रों में ‘खराब’ वायु गुणवत्ता पाई गई। पुरम, जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम, द्वारका और श्रीनिवासपुरी सहित अन्य इलाकों में जहां गुणवत्ता 201-300 के बीच रही।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) 0-50 के बीच एक्यूआई को ‘अच्छा’, 51 से 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 से 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 से 300 के बीच ‘खराब’, 301 से 400 के बीच ‘बेहद खराब’ और 400 से अधिक ‘गंभीर’ के रूप में वर्गीकृत करता है।

दिल्ली में समग्र रूप से ‘खराब’ वायु गुणवत्ता देखी जा रही है, वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) ने मंगलवार की घटना को “असाधारण प्रासंगिक घटना” करार दिया। भारत मौसम विज्ञान विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, 50 किमी प्रति घंटे की गति से चलने वाली धूल भरी हवाएं राष्ट्रीय राजधानी में सुबह 3 से 6 बजे के बीच चलीं, जिससे पूरे दिल्ली-एनसीआर में धूल का लगातार फैलाव हुआ।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

Coronavirus के 12 हजार से ज्यादा नए मामले, इस शहर में हैं सबसे ज्यादा कोविड19 केस

Live Bharat Times

फ्लिपकार्ट ऑफिस से 4 मिनट में 6 लाख की लूट,मोतिहारी में फिल्मी अंदाज में लूट की घटना को अंजाम दिया गया

Admin

बजट में वित्त मंत्री ने प्रवासन, कृषी, डिजीटल से जुडी कही यह अहम बातें

Admin

Leave a Comment