Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
Otherहेल्थ / लाइफ स्टाइल

चश्मे की ताकत को बढ़ने से रोकते हैं ये 5 थैरेपी, आप भी करें अप्लाई

आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए ऐसी कोई खास दवा नहीं है, लेकिन कुछ ऐसी थैरेपी हैं, जिनकी मदद से आप चश्मे की बढ़ती संख्या को जरूर रोक सकते हैं।

Advertisement

चश्मा
आज के समय में युवावस्था से लेकर बच्चों तक हम पावर के साथ चश्मा देखते हैं। पुराने जमाने में उम्र के साथ लोगों की आंखों की रोशनी कम होती थी और पावर के चश्मे का इस्तेमाल होता था। लेकिन आज का नजारा कुछ और है। यह भी सच है कि स्वस्थ शरीर की छाया आपकी आंखों से साफ दिखाई देती है। अगर आप अंदर से स्वस्थ हैं तो आपकी आंखों में चमक आ जाएगी।

लगातार काम करने के साथ-साथ यह भी स्पष्ट है कि आपकी खराब डाइट के कारण आपके चश्मे की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। हम जानते हैं कि आंखों की रोशनी बढ़ाने की कोई खास दवा नहीं है। लेकिन अगर हम किसी थैरेपी की मदद लें तो साफ है कि हम चश्मे की संख्या नहीं बढ़ने देंगे। आइए जानते हैं कि कौन सी थेरेपी आपके चश्मे की संख्या को कम कर सकती है।

चश्मे की संख्या कम करने के लिए 5 थेरेपी

1-नेत्रधारा चिकित्सा
अगर आपकी आंखों पर चश्मे की संख्या लगातार बढ़ रही है तो नेत्रधारा थेरेपी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है। इस थेरेपी को करने के लिए नाक के कैन्थस पर लगातार 5-6 इंच की ऊंचाई से 2 से 3 मिनट के लिए अपनी आंखों में तेल की एक पतली धारा डालें, जो आपकी आंख के चैनल (स्रोत) को साफ कर देगा। यह डिटॉक्सिफिकेशन लेवल के लिए भी काम करता है।

2-अंजना थेरेपी
चश्मे की संख्या के लिए भी अंजना थैरेपी फायदेमंद है। इस थेरेपी में इस्तेमाल की जाने वाली दवाएं खनिजों, धातुओं और जड़ी-बूटियों के मिश्रण से बनी होती हैं। इन सभी चीजों को मिलाकर एक पेस्ट बना लें और फिर इसे अपनी आंखों पर लगाएं। यह आपको चश्मे की संख्या को कम करने में मदद करता है।

3-असच्योताना चिकित्सा
दिन में हेल्दी डाइट और एक्सरसाइज करने के बाद भी अगर आपके चश्मों की संख्या कम नहीं हो रही है तो अस्योताना थेरेपी बहुत काम आने वाली है। आपको बता दें कि इस थेरेपी में जड़ी-बूटियों से एक तरल दवा तैयार की जाती है, जिसकी 8-10 बूंदें नाक के कैन्थस पर टपकती हैं, जो आपकी आंखों की कोशिकाओं को साफ करने में मदद करती हैं।

4-थर्पना थेरेपी
तर्पण चिकित्सा न केवल आंखों की रोशनी बढ़ाती है बल्कि आंखों को ठंडक भी देती है। इस थेरेपी में आटे से आंखों के चारों ओर गहरा आकार बनाया जाता है। इसके बाद जड़ी-बूटियों से तैयार दवा को अंदर डालकर कुछ देर के लिए छोड़ दिया जाता है। इससे आंखों की कोशिकाओं को पोषण मिलता है, जो रोशनी बढ़ाने में उपयोगी है।

5-शिरोधारा थेरेपी
यह थेरेपी कई कामों में फायदेमंद होती है। आपको बता दें कि इस थेरेपी में मरीज को टेबल पर लिटाया जाता है, जिसके बाद उसके माथे पर करीब 45 मिनट तक औषधीय तेल डाला जाता है। हालांकि कई लोग इसे थोड़ा खतरनाक भी मानते हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

Health Tips : देर रात सोने की आदतें हैं आपके दिल के लिए खतरनाक, जानिए क्या कहते हैं स्वास्थ्य विशेषज्ञ ?

Live Bharat Times

अपने डाइट में शामिल करें नींबू और हल्दी का पानी, इससे मिलेंगे अनेक सेहतमंद लाभ

Live Bharat Times

हिल स्टेशन: दक्षिण भारत के इन हिल स्टेशनों पर मनाएं नए साल का जश्न

Live Bharat Times

Leave a Comment