Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
भारत राज्य

आतंक की चेतावनी! ISI ने पिछले 4 महीने में ड्रोन से भेजे 11 टिफिन बम, निशाने पर RSS नेता और शाखाएं?

ISIS का निशाना अंतरराष्ट्रीय ख्याति का एक हिंदुस्तानी हिंदू संगठन और उसके पदाधिकारी हैं। अलर्ट के मुताबिक उन पर सुबह एक समय हमला करने की योजना है. इस संगठन के लोग सुबह पार्कों में
आतंकियों के निशाने पर हैं संघ की शाखाएं!

Advertisement


भारत के तमाम पुख्ता इंतजामों और कोशिशों के बावजूद पाकिस्तानी सरकार और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई (इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस) हरकतों से बाज आने को तैयार नहीं है. अगस्त से अब तक (चार महीने में नवंबर 2021 तक) 25 से ज्यादा ड्रोन भारतीय सीमा पर पाकिस्तान भेजे गए हैं। इन ड्रोन से ड्रग्स, हथियार और टिफिन-बम की खेप भेजी जा रही है. अलर्ट के मुताबिक ये आतंकी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के नेताओं को निशाना बनाने की तैयारी कर रहे हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक इस बात के सबूत मिले हैं कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अधिकारी आतंकियों के निशाने पर हो सकते हैं. ISI के आतंकी मौका मिलते ही इन सभी को नुकसान पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं. ये प्रयास सुबह के समय और अधिक किए जाने की संभावना है जब इस संगठन के पदाधिकारी पार्कों में स्थापित सुबह की शाखाओं में मौजूद हों।

हालांकि, भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने हमारी सीमा में तबाही मचाने से पहले इनमें से 11 टिफिन बमों को जब्त और निष्क्रिय कर दिया। भारतीय सुरक्षा और ख़ुफ़िया एजेंसियों के इस कदम से पाकिस्तान और उसकी ख़ुफ़िया एजेंसी को भारी आर्थिक नुकसान हुआ है. हाल के दिनों में अब भारतीय खुफिया एजेंसी ने एक और अलर्ट जारी किया है। यह अलर्ट चिंता बढ़ाने के साथ-साथ भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को भी अलर्ट करने वाला है।

सतर्क करने के लिए काफी था वो धमाका
खुफिया सूत्रों के अनुसार 21 नवंबर 2021 को यानी आधी रात से दो दिन पहले पठानकोट में भारतीय सैन्य शिविर के पास हमला भी पाकिस्तानी साजिशों का ही नतीजा था. जिसमें अज्ञात साजिशकर्ताओं ने मोटरसाइकिल सवारों की मदद से ग्रेनेड हमले की उस घटना को अंजाम दिया. इस तरह के हमले को अंजाम देने के लिए आईएसआई हर संभव कोशिश कर रही है। हमारे ख़ुफ़िया विभाग ने कुछ दिन पहले ही भारतीय एजेंसियों को अपनी आशंका और इससे जुड़े अलर्ट दे दिए थे.

इससे पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों पर शक बढ़ा
कुछ दिन पहले अजनाला (पंजाब) में एक पेट्रोल पंप पर हुए विस्फोट की घटना में स्थानीय पुलिस ने चार संदिग्धों को हिरासत में लिया था. तब पता चला कि हिरासत में लिए गए चार युवकों में से दो विक्की और रूबल लगातार पाकिस्तान में मौजूद इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन के प्रमुख भाई लखबीर सिंह रोडे के भाई कासिम औरव के संपर्क में थे। तीन-चार दिन पहले स्थानीय ग्रामीणों को पंजाब के जीरा विधानसभा क्षेत्र स्थित एक गांव के खेतों में लावारिस टिफिन पड़ा मिला था।

सुबह हमले की आशंका
संबंधित जांच एजेंसियों और पुलिस ने टिफिन खोलकर देखा तो उसके अंदर एक हथगोला रखा हुआ था। इन सभी घटनाओं को देखते हुए पंजाब में भारत-पाकिस्तान सीमा पर तैनात स्थानीय पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों के लिए हाल ही में खुफिया अलर्ट जारी किया गया है. इस खुफिया अलर्ट में सुरक्षा एजेंसियों को साफ तौर पर चेतावनी दी गई है कि वे बेहद सतर्क रहें.

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने स्मॉल से लेकर मीडियम ड्रोन पर्सनल ट्रिप के लिए ले जाने की दी इजाजत

Live Bharat Times

दिल्ली में कोविड के 980 नए मामले सामने आए; सकारात्मकता दर लगभग 26%

Admin

कप्तान कोहली के लिए T20 World Cup के पहले आई बड़ी खुशखबरी, दुबई में लगा नया स्‍टैच्‍यू

Live Bharat Times

Leave a Comment