Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
हेल्थ / लाइफ स्टाइल

भोजन करते समय रखें इन बातों का ध्यान, जीवन में मिलेगी सफलता

हिंदू धर्म में भोजन के कुछ नियम हैं, जिनका पालन करने से आप कई गंभीर बीमारियों से बच सकते हैं।

Advertisement

भोजन नियम
भोजन जीवन के लिए सबसे महत्वपूर्ण है। भोजन उन सभी के लिए आवश्यक है जिन्हें भगवान ने पृथ्वी पर अपना जीवन भेजा है। यही कारण है कि भोजन हमारे जीवन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है। भोजन भी जीवन की सभी ऊर्जाओं का स्रोत है। यही कारण है कि हिंदू धर्म में भोजन को लेकर कई विशेष नियम बताए गए हैं, भोजन कैसे करना चाहिए? भोजन करते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? खाना खाते समय क्या करना चाहिए? और क्या नहीं करना चाहिए?

भोजन के बारे में जो नियम बताए गए हैं, उन्हें जानना सभी के लिए आवश्यक है। पौराणिक शास्त्रों में भोजन आदि के संबंध में कुछ नियमों का उल्लेख किया गया है। सनातन धर्म में खाना खाने से पहले तीन बार पानी छिड़कने की परंपरा है। कहा जाता है कि इस तरह हम अन्न देवता को प्रसन्न करते हैं और पहले उन्हें देते हैं। जबकि वैज्ञानिक समीकरण में कहा गया है कि पहले के समय में लोग खाना खाने से पहले जमीन पर बैठकर आचमन करते थे, जिससे चारों तरफ पानी का घेरा बना रहता था और इस वजह से रखी थाली के पास कोई कीटाणु नहीं आते थे। ऐसे में हम जानते हैं कि भोजन करते समय किन नियमों का पालन करना चाहिए।

आइए जानते हैं नियम
हमारे पौराणिक ग्रंथों में बताया गया है कि भोजन शुद्ध स्थान पर ही बनाना चाहिए। शुद्ध स्थान पर बने भोजन में ताजगी आती है। अगर हर लड़की या महिला भोजन बना रही है तो यह जीवन में सकारात्मकता और प्रगति और सुख-समृद्धि लाता है। इतना ही नहीं हिंदू मान्यता के अनुसार सबसे पहले भोजन अग्नि देवता को समर्पित किया जाता है। इसके अलावा भोजन करने से पहले इस मंत्र का जाप करना चाहिए, इससे सभी देवी-देवता प्रसन्न होते हैं।

जानिए भोजन मंत्र
ब्रह्मपर्णं ब्रह्महवीरब्रह्ममग्नौ ब्राह्मण हुतम।
ब्रह्मव तेन गंतव्यं ब्रह्मकर्म समाधि।

सह नववतु।
नौ भुनक्टु के साथ।
वीर्य हो रहा है।
तेजस्विनावधितमस्तु।
मैं उलझन में हूं
शांति: शांति: शांति:

पंचवलिका के बाद यदि घर में कोई अतिथि आया है तो उसके लिए भोजन आवश्यक बना देना चाहिए। घर में खाना कम हो तो भी मेहमान के लिए ताजा खाना बनाना चाहिए।

फिर भी खाना क्यों नहीं बनता?
भोजन करते समय हमेशा याद रखें कि भोजन की निंदा नहीं करनी चाहिए। खाना कितना भी खराब क्यों न बनाया जाए, लेकिन भोजन को भगवान का प्रसाद मानकर लेना चाहिए, ऐसा करने से जीवन में कई सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

अपनी खूबसूरती को बढ़ाने के लिए बेकिंग सोडा के इन अलग-अलग प्रयोगों को जरूर करें

Live Bharat Times

अगर आपको भी फेस पर कुछ लगाना है इस गर्मी में तो गर्मी में बाहर निकलने से पहले एलोवेरा जेल का इस्तेमाल करें, जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर

Live Bharat Times

बार बार लगती हे मीठा खाने की तलब , कहीं गंभीर बीमारी की तरफ तो नहीं जा रहें।

Live Bharat Times

Leave a Comment