Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
हेल्थ / लाइफ स्टाइल

5 घरेलू उपचार जो मासिक धर्म के दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं

ज्यादातर महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस दौरान चिड़चिड़ापन, सिर दर्द, बदन दर्द होना सामान्य बात है, लेकिन इस समय दर्द असहनीय होता है। ऐसे में आप कुछ घरेलू नुस्खे आजमा सकते हैं।

Advertisement

मासिक धर्म के दर्द को कम करने के घरेलू उपाय
मासिक धर्म वाली महिलाओं को अक्सर दर्द से राहत पाने के लिए गर्म पानी की बोतल या हीटिंग पैड का इस्तेमाल करते देखा जाता है। यह दर्द पेट, पीठ के निचले हिस्से और जांघों के आसपास परेशानी का कारण बनता है।

तो आपको बहुत थकान महसूस होती है। कुछ महिलाओं को मतली, उल्टी, सिरदर्द, बेहोशी, सूजन और कब्ज का भी अनुभव होता है। इस दर्द से राहत पाने के लिए आप कई घरेलू नुस्खे भी आजमा सकते हैं।

मासिक धर्म के दर्द को कम करने के घरेलू उपाय

गर्म पानी की बोतल या हीटिंग पैड का उपयोग करना

मासिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द को ठीक करने के लिए आप गर्म पानी की बोतल या हीटिंग पैड का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। यह गर्भाशय की मांसपेशियों को आराम देने में मदद करता है। इससे मासिक धर्म का दर्द कम होता है। आप गर्म पानी से नहा भी सकते हैं।

मालिश चिकित्सा

लगभग 20 मिनट की मसाज थेरेपी दर्द को कम करने में मदद कर सकती है। त्वचा की जलन से बचने के लिए हमेशा उच्च गुणवत्ता वाले आवश्यक तेल का उपयोग करें। आप लैवेंडर, पेपरमिंट, गुलाब और सौंफ के आवश्यक तेलों का उपयोग कर सकते हैं।

अच्छा आहार लें

पीरियड्स में ऐंठन को कम करने में डाइट अहम भूमिका निभाती है। यह सूजन और कब्ज को कम करने में भी महत्वपूर्ण है। इस दौरान लो फैट वेजिटेरियन खाना खाएं। इसके अलावा, अत्यधिक प्रसंस्कृत भोजन, कार्बोनेटेड पेय, कैफीन, नमकीन भोजन और शराब जैसे कुछ खाद्य पदार्थों से बचें। पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। यह दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।

डाइट में हर्बल टी को शामिल करें

मासिक धर्म के दौरान हर्बल चाय पिएं। यह मासिक धर्म के दर्द को और कम करता है। विशेष रूप से मासिक धर्म के दर्द से राहत के लिए आहार में शामिल करने के लिए जड़ी-बूटियों का सबसे अच्छा विकल्प कैमोमाइल चाय, सौंफ, दालचीनी और अदरक हैं।

व्यायाम और योग

जब पीरियड्स के दर्द की बात आती है, तो हमेशा ऐसी चीजें करना जरूरी होता है जो मांसपेशियों को आराम दें। चाहे वह स्ट्रेचिंग हो या योग। स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज पीरियड के दर्द को कम करने में मदद करती है। पेट, श्रोणि, जांघों और पीठ के निचले हिस्से में दर्द को कम करने के लिए नियमित व्यायाम करें। ये मांसपेशियों को आराम देने में मदद कर सकते हैं। स्लो वर्कआउट उन महिलाओं के लिए पीरियड फ्लो में सुधार करने में भी मदद करता है जो लाइट पीरियड फ्लो या लेट साइकल से जूझती हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

धूप की वजह से त्वचा पर आ रही है डलनेस, इन उपायों से खील उठेगी त्वचा

Live Bharat Times

अगर आप भी रूखी त्वचा से छुटकारा पाना चाहते हैं तो रोजाना यह खास उपाय करें

Live Bharat Times

Tips For Hair Rebonding : बालों में रिबॉन्डिंग कराने से पहले इन बतों को जरूर रखें ध्यान

Live Bharat Times

Leave a Comment