Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
Other

आंखों की देखभाल के टिप्स: घी और बादाम से घर पर बनाएं काजल, जानिए इसके फायदे

घर में बनी काजल की खासियत यह है कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता और यह आंखों पर लंबे समय तक टिकी रहती है। खास बात यह है कि इसे घर पर आसानी से बनाया जा सकता है।

काजल

Advertisement

बेहतरीन लुक पाने में आंखों की खूबसूरती अहम भूमिका निभाती है। आंखों को खूबसूरत बनाने के लिए लोग बाजार में मिलने वाले तरह-तरह के उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं। ये आंखें कुछ समय के लिए खूबसूरत दिखती हैं, लेकिन इनमें मौजूद केमिकल इन्हें काफी नुकसान पहुंचाते हैं। इतना ही नहीं इन उत्पादों की वजह से आंखों के आसपास की त्वचा से नमी भी खत्म होने लगती है। विशेषज्ञों के अनुसार, उन उत्पादों से बचना चाहिए जिनमें रसायनों का उपयोग किया गया हो। हालांकि घर में बनी चीजों से आंखों की खूबसूरती में चार चांद भी लगाए जा सकते हैं। हम बात कर रहे हैं होममेड काजल की।

घर में बनी काजल की खासियत यह है कि इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता और यह आंखों पर लंबे समय तक टिकी रहती है। खास बात यह है कि इसे घर पर आसानी से बनाया जा सकता है। तो आइए हम आपको बताते हैं कि कैसे घी और बादाम की मदद से घर पर काजल बनाया जा सकता है। इसके साथ ही हम आपको इसके अन्य फायदों के बारे में भी बताएंगे।

ऐसे बनाएं काजल
दो से तीन बादाम लेकर गैस पर भून लें. इसके बाद बादाम काले हो जाएंगे, लेकिन उसमें से धुंआ निकलता रहेगा. इस बीच सुलगते हुए बादाम को दीये में रखें और ऊपर से छोटी प्लेट से ढक दें. ऐसा सभी बादाम के साथ करें। अब एक सख्त कागज की सहायता से प्लेट पर लगे कालेपन को दूर कर के बने पाउडर को एक छोटे बर्तन में जमा कर लें. – इसके बाद इस चूर्ण में थोड़ा सा घी मिलाएं. जब यह ठंडा हो जाए तो आप घर का बना काजल लगा सकती हैं।

इसके फायदे
डार्क सर्कल्स- बादाम से बना यह काजल आंखों की थकान को भी दूर करता है और इसी वजह से होममेड काजल की मदद से डार्क सर्कल्स को खत्म करने में मदद करता है और आंखों की खूबसूरती को बढ़ाता है.

बरकरार रहेगी नमी- घी और बादाम से बने इस काजल को लगाने से आंखों के आसपास की त्वचा पर नमी बनी रहेगी. तो इस काजल को बनाएं और रोजाना लगाएं।

कोई नुक्सान नहीं – इस काजल में केमिकल न होने के कारण यह आंखों को भी नुकसान नहीं पहुंचाएगा।

विटामिन ई- बादाम में विटामिन ई भरपूर मात्रा में मौजूद होता है। आंखों को ठीक करने के लिए विटामिन ई एक बेहतर स्रोत माना जाता है।

जीवाणुरोधी- बादाम और घी से बने इस काजल में कई तरह के एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होते हैं, जो आंखों को बाहरी संक्रमण से मुक्त रखने में मदद करते हैं।

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

जानिए मकर संक्रांति के दिन क्यों खाते हैं काले तिल के लड्डू, क्या है तिल दान का महत्व!

Live Bharat Times

जय प्रकाश चौकसे का निधन: फिल्म समीक्षक जय प्रकाश चौकसे का निधन, पिछले लेख में लिखा था- यह विदाई है, अलविदा नहीं

Live Bharat Times

UAPA केस: सुप्रीम कोर्ट ने केरल के छात्र थाहा फजल को दी जमानत, NIA की याचिका खारिज

Live Bharat Times

Leave a Comment