Hindi News, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, Hindi Newspaper
भारतराज्य

यूपी विधानसभा चुनाव: बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक 10 घंटे चली, 170 उम्मीदवारों के नामों पर हुई चर्चा; आज फिर बैठक में शामिल होंगे अमित शाह

चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. भाजपा के स्वामी प्रसाद मौर्य ने चुनाव से पहले इस्तीफा दे दिया और सपा में शामिल हो गए। इसका जवाब देते हुए बीजेपी मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि लोग भूल जाते हैं कि 2017 और 2019 में एक बड़ी पार्टी और एक बड़े नेता ने भी समाजवादी पार्टी से हाथ मिलाया था.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 

Advertisement

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर मंगलवार को गृह मंत्री अमित शाह ने यूपी बीजेपी के कोर ग्रुप के साथ 10 घंटे की मेरेथॉन बैठक की. बैठक में पहले चरण के चुनाव के लिए उम्मीदवारों की स्क्रूटनी की गई। लखनऊ में राज्य चुनाव समिति की बैठक में तैयार की गई सूची की उसी सूची के आधार पर दिल्ली में जांच की गई. बैठक में 170 से अधिक विधानसभा उम्मीदवारों के नामों की जांच की जा चुकी है। इसके साथ ही गृह मंत्री अमित शाह ने साठ क्षेत्रीय प्रभारियों की क्षेत्रवार समीक्षा में पार्टी के काम और पार्टी के समीकरण पर चर्चा की.

बैठक में पहले तीन चरणों के उम्मीदवारों के साथ इन चरणों की सीटों के लिए सह प्रभारियों पर चर्चा हुई और फीडबैक भी लिया गया. आज यानि बुधवार को गृह मंत्री शाह फिर से कोर ग्रुप की बैठक करेंगे. उम्मीदवारों पर चर्चा के लिए सुबह 11 बजे से फिर से बैठक शुरू होगी.

सीएम-डेप्युटी सीएम भी होंगे शामिल
समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, सीएम योगी आदित्यनाथ, दोनों डेप्युटी सीएम, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव और सुनील बंसल शामिल हो सकते हैं. इसके साथ ही दिल्ली में पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव को लेकर अलग-अलग राज्यों के कोर ग्रुप की बैठकों का दौर मंगलवार से शुरू हो गया है.

 

कमल खिलना है
इन बैठकों में राज्य से आने वाले उम्मीदवारों के पैनल पर चर्चा की जाएगी और उम्मीदवारों पर अनौपचारिक सहमति बनाई जाएगी. इसके बाद भाजपा की केंद्रीय समिति में उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप दिया जाएगा। केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक 19 जनवरी के आसपास होने की संभावना है. वहीं, चुनाव से पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है. भाजपा के स्वामी प्रसाद मौर्य ने चुनाव से पहले इस्तीफा दे दिया और सपा में शामिल हो गए।

इसका जवाब देते हुए बीजेपी मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि लोग भूल जाते हैं कि 2017 और 2019 में एक बड़ी पार्टी और एक बड़े नेता ने भी समाजवादी पार्टी से हाथ मिलाया, लेकिन कमल तो कमल है- उसे खिलना ही है। स्वामी प्रसाद मौर्य के इस्तीफे की खबर के बाद जहां बीजेपी डैमेज कंट्रोल में लगी हुई है. वहीं विपक्ष का दावा है कि बीजेपी के और भी नेता उनके संपर्क में हैं.

Print Friendly, PDF & Email

Related posts

कांग्रेस का राजगीर शिविर : सवर्ण नेताओं को पसंद नहीं आया सोशल इंजीनियरिंग का फॉर्मूला, राजेश राम के अध्यक्ष बनने में कई कांटे

Live Bharat Times

अवैध खनन को रोकने गए तावडू के डीएसपी सुरेंद्र सिंह के ऊपर खनन माफिया ने डंपर चढ़ा दिया

Live Bharat Times

यूपी चुनाव 2022: ममता बेनर्जी आज पहुंचेंगी वाराणसी, गंगा आरती में शामिल होंगी, कल सपा के समर्थन में करेंगी प्रचार

Live Bharat Times

Leave a Comment